मुज़फ्फरनगर जेल में बंद शाहिद नामक क़ैदी की लाश लटकती मिली , परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

मुजफ्फरनगर, जिला कारागार में सोमवार को एक बंदी ने बैरक के गेट पर अंगौछे से लटक कर फांसी लगा ली। बंदी के स्वजनों ने जेल प्रशासन पर हत्या कराने का आरोप लगाते हुए डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उसके बाद स्वजनों ने शव को न्याजूपुरा में रखकर जाम भी लगा दिया। पुलिस ने जांच का आश्वासन देकर जाम खुलवाया।

यह है मामला

करीब एक वर्ष पूर्व नगर कोतवाली पुलिस ने शाहिद निवासी न्याजूपुरा को एनडीपीएस एक्ट में जेल भेजा था। जेल में बंद चल रहे बंदी शाहिद का शव सोमवार को बैरक के गेट पर लटका मिला, जिसको देखकर जेल के अंदर अफरातफरी मच गई। जेल अधीक्षक एके सक्सैना ने बताया कि बंदी को बैरक नम्बर एक में रखा गया था। सोमवार सुबह उसने अंगौछे का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। फांसी लगाने की सूचना मजिस्ट्रेट को दी गई, जिसके बाद जेल में चिकित्सक और मजिस्ट्रेट पहुंचे। चिकित्सक ने बंदी को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद बैरक के अन्य बंदियों से आत्महत्या का कारण जानने की कोशिश की गई। उधर बंदी के स्वजनों ने जिला कारागार में हत्या का आरोप लगाते हुए डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन भी दिया। दोपहर बाद स्वजनों ने बंदी का शव न्याजूपुरा में रखकर सड़क पर जाम लगा दिया।

स्वजनों ने शाहिद की हत्या का आरोप व मुआवजे की मांग की। जाम की जानकारी मिलते ही शहर कोतवाली प्रभारी योगेश शर्मा फोर्स के साथ पहुंच गए। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने स्वजनों को जांच कराने का आश्वासन दिया, जिसके बाद जाम खुलवाया गया। पुलिस ने शव को सुपुर्द ए खाक के लिए कब्रिस्तान भिजवा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *