“मुझे अपने जीवित रहने के लिए एक लाइसेन्सी बन्दूक की जरूरत ,” हाथरस केस में मारे गए पिता की , बेटी की पुलिस से मांग

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तर प्रदेश के हाथरस में जिस महिला के पिता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, उसने जान का खतरा होने के डर से बंदूक खरीदने और रखने के लिए लाइसेंस की मांग की है ।

महिला के वकील ने उक्त घटना के बाद पुलिस सुरक्षा के लिए आवेदन दिया था , जिसमें आरोपी गौरव शर्मा से खतरे का दावा किया गया था।

उन्होंने कहा, ‘घटना के कई दिन बाद भी गौरव शर्मा को गिरफ्तार नहीं किया गया । मुझे डर लग रहा है की कही हमारे साथ भी कुछ ऐसा न हो ।

“मुझे अपने जीवित रहने के लिए बन्दूक की जरूरत है। अब तक, मेरे पास पुलिस सुरक्षा है लेकिन कल क्या होगा जब सुरक्षा वापस ले ली जाएगी, ” महिला ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया को बताया ।

महिला ने पुलिस की निष्क्रियता की भी आलोचना की।

उसने कहा: “मैंने स्थानीय पुलिस स्टेशन को गौरव शर्मा और उनके परिवार के साथ विवाद के बाद मौके पर आने के लिए कहा था, क्योंकि उन्होंने हमें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी। लेकिन पुलिसकर्मी ने मुझे आपातकालीन नंबर 112 पर कॉल करने के लिए कहा था। अगर उन्होंने समय पर काम किया होता, तो मेरे पिता आज जीवित होते। ”

महिला ने दावा किया कि उसे इस मामले को आगे बढ़ाने के खिलाफ जून 2019 में गौरव शर्मा द्वारा धमकी दी गई थी।

“गौरव शर्मा एक अपराधी है और कुछ भी कर सकता है। मैं अपने गाँव से रोजाना कोर्ट जाती हूँ। और मुझे विश्वास है कि वह मुझे मारने लिए कुछ भी कर सकता था । इसलिए मैंने सुरक्षा मांगी है।

घटना के बाद, पुलिस ने 50 वर्षीय व्यक्ति की हत्या के मामले में तीन आरोपियों (रोहिताश शर्मा, निखिल शर्मा, और ललितेश शर्मा) को गिरफ्तार किया, मृतक ने अपनी बेटी के साथ छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज की थी। हालांकि, मुख्य आरोपी गौरव शर्मा अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बहार है । गौरव शर्मा 2018 में छेड़छाड़ के आरोप में जेल गया था दो दिन बाद ही उसकी जमानत हो गयी थी ,और तब से जमानत पर बाहर हैं।

इस बीच, हाथरस पुलिस ने शर्मा की गिरफ्तारी के लिए किसी भी सूचना पर 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *